andhera horror story in hindi

Disclaimer: This is a work of fiction, names, characters, places, events, businesses, locales and incidents are either the products of the author’s imagination or used in a fictitious manner. Any resemblance to actual persons, dead or living or actual events is purely coincidental. In no event shall horror story be liable for any special, indirect, direct, consequential, or incidental damages or any damages whatsoever, whether in an action of contract, negligence or other tort, arising out of or in connection with the use of the service or the contents of the service.

[..कहानी का पूरा मजा लेने के लिए.. (1)कृपया इसे एक बार में पढ़े ..12 मिनट का समय लगेगा  (2)कृपया कहानी में दिए गए निर्देशों का पालन करे ..आप को लगेगा मूवी देख रहें हैं.. तो मूवी शुरू करते हैं ..] [कृपया कमजोर दिल वाले कहानी ना पढ़े ]

डर क्या है? ..सच और झूठ के बीच की कड़ी है डरररर.... 

सच..सर्व शक्तिमान..उपर वाला जो हर जगह है ..सच राक्षस जिसका संघार किया गया

..झूठ ..डायन ..पिशाच..भूत जो कहीं नहीं है या हर जगह हैं जहाँ अँधेरा है? 

Andhera Dark Horror Story In Hindi : हिंदी कहानी या भयानक सच?   

शहर के बीच में एक घर ..जहाँ साक्ष्य अपने माँ पिता के साथ शुख से रह रहा था ..22 साल का साक्ष्य एक खुश मिजाज लड़का था ..जो अपने पिता का बिज़नेस संभालता था। उसमे बस एक कमी थी कि ..वो दूसरो का मजाक उड़ाता ..उन्हें डराता ..उनके साथ प्रैंक करता ..लेकिन उसके साथ कोई ऐसा करता तो वो गुस्सा हो जाता।

घर बड़ा था ..सबके सोने के लिए अलग कमरे थे ..साक्ष्य का भी अपना एक बड़ा कमरा था ..खुद का टी.वी. ..कई तरह की लाइटो से भरा हुआ ..खुबसूरत सजावटो और फोटो के साथ सजा हुआ।

रात के 2 बज रहे थे ..साक्ष्य टी.वी. देख रहा था उसने चैनल बदलने के लिए रिमोट को दबाया..लेकिन चैनल नहीं बदला..साक्ष्य को लगा रिमोट की बैटरी ढीली(लूज) हो गयी है.. साक्ष्य ने रिमोट से बैटरी(सेल) निकालने के लिए उसे खोला ..बैटरी छिटक कर बाहर निकली और पलंग(बेड) के नीचे चली गयी।

[..कृपया नीचे दिए गए विडियो को चालू (स्टार्ट-प्ले) करें.. 3D साउंड इफ़ेक्ट पाने के लिए हेड फ़ोन लगायें.. ..कृपया विडियो को ना देखें.. ..कहानी आगे पढना शुरु करें..]

साक्ष्य ने बैटरी निकालने कि लिए बेड के नीचे देखा ..बेड के अंदर बहोत हल्की रौशनी थी ..बाकि अँधेरा था..बैटरी काफी अंदर थी..बैटरी निकालने के लिए उसने अंदर हाथ डाला..बैटरी दूर थी.. साक्ष्य बेड के नीचे थोड़ा घुसा ..बैटरी थोड़ी सी दूर रह गयी थी..वो थोड़ा और अंदर घुसा ..उसे ऐसा लगा जैसे उसके आसपास कोई है ..उसने बेड के नीचे से बाहर देखा..कमरे में लाइट थी जिसकी थोड़ी रौशनी बेड के अंदर आ रही थी..

Hindi Horror Story | Ghost Story Hindi

..साक्ष्य ने बैटरी को जल्दी से पकड़ा ..तभी उसे लगा जैसे उसके उपर से कुछ सरसराहट के साथ गुजरा ..साक्ष्य ने बाहर निकने की कोशिश की..लेकिन वो हिल नहीं पाया ..उसने सामने देखा  ..उसके सामने लाल सुर्ख आंखे..एक काला साया ..जिसकी हल्की भयानक आवाज उसके कानो में पड़ रही थी..

..साक्ष्य का खून जम गया ..साया उसके करीब आ रहा था ..भयानक आवाजे और चीखें ..साक्ष्य के कानो में बढ़ती जा रहीं थी ..डरावनी खुनी आँखे उसकी आँखों के बिलकुल करीब आ चुकी थी..

andhera horror story hindi
..साक्ष्य चीखा और बेड से बाहर की ओर निकला....जल्दी से कमरे के बाहर भागा.. लेकिन वो वापस कमरे में था..

..साक्ष्य डर से जमा ..कमरे में खड़ा..  ..उसने देखा..बेड के नीचे से काला घना धुआं बाहर निकला.. ..कमरे की दीवारों का रंग काला ..सारी सजावटे काली ..फोटो काली ..बल्ब की चमकीली लाइट ..कमरे में हर तरफ खौफ का साया..

...उसने अपने पीछे से ..खिलखिलाने की..खौफ से भरी आवाज सुनी ..साक्ष्य ने पीछे मुड़ा..साया ठीक उसके सामने खड़ा..अपनी लम्बी काली लाल जीभ बाहर लपलपा रहा था..उसकी खुरदुरी जीभ साक्ष्य को गालो से होकर गर्दन तक रगड़ते हुए चाट रही थी.. साक्ष्य का रंग नीला..ऑंखें लाल.. ..साये ने उसे गर्दन से पकड़ कर हवा में टांग दिया ..”ब..बचाओ..बचाओ ..छोड़ मुझे ..क.क.कौन हो..”

                            andhera horror hindi story

“मुझे तुमने बनाया ..मुझे बढाया.. पिशाच हूँ मै ..भूखा हूँ..तू मेरी भूख मिटाएगा ..तुझे तेरे डर के साथ अंदर से खाऊंगा..तेरी मौत निश्चित है  

साक्ष्य की नशे फट रही थी ..पेट की अतड़िया बाहर खिच रही थी..वो चींख रहा था ..उसकी जान शरीर से बाहर निकल रही थी ..तभी साये ने उसे उछाल कर दूर फेंक दिया ..साक्ष्य हिम्मत जुटा कर हांफते हुए कमरे से बाहर भागा..

..घर से बाहर जाने का दरवाजा खोलने की कोशिश की..नहीं खुला ..खिड़की का शीशा तोड़ने के लिए हाथ मारा..नही टूटा ..उसका ध्यान खिड़की से बाहर गया..जहाँ तक नजर गयी सब काला था..डर से भरा घना अँधेरा..

तभी उसने खिड़की के शीशे में पिशाच का अक्श देखा जो उसके पीछे खड़ा घूर रहा था ..साक्ष्य की सांसे रुक गयी..दिल बाहर आ रहा था..लगा उसका अंतिम समय आ गया..

.. पिशाच खौफनाक हँसी हँसता..उसके शरीर से पार हो कर सामने आ गया..और..दीवार को छुआ..दीवार टूट गयी.. पिशाच ने अपनी खून से भरी लाल ऑंखें..साक्ष्य की आँखों के करीब ला कर अपना मुँह खोला ..भयानक गुर्राहट के साथ काला खूनी मुँह बड़ा..और बड़ा हो गया..

andhera hindi horror story masagyani
पिशाच ने अपना मुँह साक्ष्य की खोपड़ी में धंसा दिया..साक्ष्य अपनी पूरी ताकत से चीखा.. पिशाच ने साक्ष्य को अपने बड़े से मुँह में निगल लिया..वो किसी नर्क में गिर रहा था..जहाँ कई पिशाच उसे नोंच रहे थे..वो चिल्ला रहा था..खून से लथपथ.. ..धाड़.. कर एक बड़े नुकीले सतह पर गिरा जो उसके शरीर के पार हो गया..चींख..खून..दर्द से उसकी आँखे बंद हो गयी..

andhera horror story hindi masagyani
साक्ष्य की ऑंखें खुली..सामने अँधेरा था..डर से वो उठा.. ..धाड़..उसका सर टकराया..वो बेड के नीचे था..हाथ में रिमोट की बैटरी ..वो जल्दी से बेड के बाहर निकल कर भागा.. अपने माँ पिता के कमरे के बाहर पंहुच कर बेतहासा दरवाजा पीटने लगा..

उसकी माँ ने दरवाजा खोला..पूछा क्या हुआ.. ..डर से पसीने में लथपथ साक्ष्य एक साँस में रात को हुई सारी बाते बताता गया..उसके पिता बाते सुन रहे थे..उन्होंने कहा रात में कोई बुरा सपना देखा होगा जिसे सच मान लिया.. .. साक्ष्य ने उन्हें समझाने की कोशिश की..दोनों ने कहा इतना बड़ा हो गया है सपने से डर जाता है..

साक्ष्य का पूरा शरीर दर्द कर रहा था..लगा शायद उसने सपना ही देखा हो.. ..वो कमरे से निकल कर जाने लगा..उसकी नजर घर से बाहर जाने वाले दरवाजे की दीवार पर पड़ी..टूटी दीवार..जहाँ पिशाच ने छुआ था..ये देख कर उसकी धड़कन रुक गयी..

साक्ष्य नहाने गया..उसने अपने छाती पर दिल के पास काला निशान देखा..  ..उसने अपने परिवार के गुरु महात्मा से मिलने का फैसला लिया..और..उनके आश्रम पहुच गया..

उसने महात्मा को सारी बातें बताई.. महात्मा ने उससे पूछा “तुमने कभी किसी का कुछ बहुत बुरा किया है..खास कर उस कमरे के अंदर..”     

..”तक़रीबन पांच साल पहले..माँ के रिश्तेदार की..10 साल की लड़की सीमा हमारे घर कुछ वक़्त के लिए आई थी..एक दिन मैंने उसे अपने कमरे के बेड के नीचे ये झूठ बोल कर घुसा दिया की मेरा रिमोट अंदर चला गया है और मै निकाल नहीं पा रहा ..वो बेड के अंदर गयी मैंने दरवाजा बंद कर दिया..और..उसे डराना शुरु किया की वहाँ अँधेरे में भूत है..वो डर गयी रोंने लगी..बाहर आने की कोशिश की ..मैंने उसे बाहर नहीं आने दिया ..उसे बहोत डराया ..वो डर से बेहोश हो गई ..उसकी तबियत ख़राब हो गयी..कुछ दिन बाद वो चली गयी ...इस बारे में उसने और मैंने किसी से कुछ नहीं बताया”  

 “ये पिशाच उत्त्पन्न हुआ..डर से..उस लड़की के भयानक डर की नकारात्मक उर्जा से..उसने उस लड़की की डर से शक्ति प्राप्त की..स्वयंम को शक्तिशाली बनाया..उसे अंदर से खा कर.. ..वो आज भी उसे खा रहा है.. ये तुम्हारी गलती या अपराध के कारण हुआ..अब उसकी नज़र तुम पर है..वो तुम्हे हानि पहुँचाना शुरू कर चुका है..ये काला निशान इसका प्रमाण है.. ..उर्जा कभी नष्ट नहीं होती..वो अपना स्वरुप बदलती है..

..इसका उपाय है ..तुम उस लड़की से ह्रदय से माफ़ी मांगो..मै भभूत दे रहा हूँ उसे ग्रहण करो..और..उस लड़की को भी खिला देना..और ये शक्ति माला धारण करो ..तुम्हारे घर में शुद्धिकरण का यज्ञ करवाओ..जाओ सफल हो मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ है”

साक्ष्य ने सीमा के घर का एड्रेस पता किया और उसके घर पहुँच गया..सीमा से मिलने के लिए उसकी माँ से विनति की..

..सीमा की माँ ने बताया की ..सीमा की दिमागी हालत इतनी ख़राब थी कि उसे तीन साल मेंटल हॉस्पिटल रखना पड़ा..अभी पांच महीने पहले ही वो घर आई है..सीमा की माँ साक्ष्य को सीमा के कमरे में बैठा कर चाय नास्ता लेने चली गयी..

andhera horror story in hindi masagyani
..सीमा उसके सामने बैठी थी..उसकी गर्दन पर काला निशान था ..उसने नज़र उठा कर देखा..उसकी आँखों को देख कर लग रहा था की..पिशाच उसके अंदर है..साक्ष्य की हालत ख़राब हो गयी.. ..अचानक सीमा का पूरा शरीर अकड़ने लगा..उसके मुँह..आँखों..कानो से छोटे काले कीड़े निकलने लगे..भिन-भिन.. कमरे में अँधेरा छा गया..साया सीमा के बगल में था..

andhera horror hindi story masagyani

साक्ष्य डर से पसीने में लथपथ..हाथ जोड़ कर सीमा से माफ़ी मांगने लगा ..दरवाजा अचानक बंद हो गया ..साये ने साक्ष्य को हवा में उछाल कर फेंक दिया.. साक्ष्य ने उठने की कोशिश की साये ने उसे फर्श पर ही दबोच लिया.. साक्ष्य पर कीड़े चिपकने लगे..उसे लगा जैसे उसका खून चूस रहें हो.. साया अपना खुनी मुँह करीब लाया और बोला ..एक बार जिसे मैंने निगल लिया वो बच नहीं सकता.. 

साक्ष्य अपनी पूरी ताकत के साथ सीमा की ओर लपका..सीमा का मुँह खोल कर भभूत को जुबान पर रख दिया..सारा माहौल शांत हो गया..

“तुमने मेरे साथ ऐसा क्यों किया..अपने कुछ वक़्त के मजे के लिए.. ..मेरी ज्यादा सांसे नहीं बची हैं” सीमा साक्ष्य से सवाल करते हुए..दरवाजे पर खड़ी अपनी माँ को देख कर मुस्करायी..

..अगले पल उसके मुँह से खून की उल्टी हुई.. खून की धार..आँखों से खून..कान से खून..चेहरे की नशें अकड़ कर फट गयी.. ..हर तरफ खून ..वो आखिरी साँस लेते हुए जमींन पर गिर पड़ी ..माँ सीमा को बाँहों में उठा कर रोने लगी.. खून के छीटो से सना..साक्ष्य डर से बदहोश..घर से बाहर निकला और अपने घर आ गया..     

उसने सारी बाते अपने माँ पिता को बतायी..घर में यज्ञ करवाया गया..शुद्धिकरण किया.. ..घर के सभी बेड बदल दिए गए.. ..सब कुछ सामान्य हो गया वक़्त बीतता गया.. साक्ष्य सुधर गया..अब वो किसी को परेशान नहीं करता..

एक दिन..फिर एक रात साक्ष्य अपने बिज़नेस का काम कर रहा था..की एक पेज उड़ कर बेड के नीचे चला गया.. साक्ष्य को काम रात में ही पूरा करना था..वो पेज बहूत जरुरी था..डरता हुआ बेड के नीचे थोड़ा अंदर जा कर ..हाथ बढ़ा कर पेज को पकड़ा..और..जल्दी से बाहर आ गया..डर और पसीने से लथपथ..

..तभी उसके एक कान में हल्की खौफनाक आवाज गूंजी..कब तक बचोगे मुझसे..दूसरे कान में आवाज आई..मै तो मर गयी अब तुम्हारी बारी है..पाप कभी पीछा नही छोड़ते ..डर से साक्ष्य का खून जम गया ..साक्ष्य बेहोश हो गया ..पिशाच बाधा मुक्ति के लिए उसके पिता ने सब कुछ किया ..लेकिन कोई फ़ायदा नही हुआ ..उसे अँधेरे में जाते ही दौरे पड़ने लगते ..उसकी दिमागी हालत ख़राब होती गयी ..उसे मेंटल हॉस्पिटल में भर्ती करना पड़ा..  `

साक्ष्य ने डॉक्टर को बताया कि उसे कानो में आवाज सुनाई देती है ..मै हर उस जगह हूँ..जहाँ अँधेरा है..भूखा हूँ .. पिशाच हूँ ..डर हूँ.. ..अँधेरा हूँ मै....

 P.K.

All rights reserved by Author

(Hindi Kahani Andhera Dark Horror Story In Hindi)

----पोस्ट को सबसे पहले प्राप्त करने के लिए SUBSCRIBE करें.... 


**मोबाइल यूजर ..और भी ....खूबसूरत और खरतनाक पोस्ट देखने के लिए नीचे स्क्रॉल करें ............ ⇊

Post a Comment

नया पेज पुराने